Makar Sankranti Festival Essay In Hindi Language


मकर संक्रांति हिंदुओं का एक प्रमुख त्योहार है। मकर संक्रांति भारत, नेपाल और बांग्लादेश में काफी धूमधाम से मनाया जाता है। यह त्योहार ज्यादातर 14 जनवरी को मनाया जाता है, कभी-कभी इसे 15 जनवरी को भी मनाया जाता है। मकर संक्रांति पूरे भारत में अलग-अलग तरीके से मनाया जाता है। इस त्यौहार को मनाने का सबसे बड़ा कारण यह होता है कि इसी समय नई-नई फसल काटी जाती है और किसान लोगों का घर अन्न से भर जाता है। लोग इसी खुशी में अन्न की पूजा करते हैं और अच्छा-अच्छा खाना बनाकर खाते हैं। मकर संक्रांति गर्मी शुरुआत होने का संकेत है। भारत के कुछ प्रदेशों में यह एक से ज्यादा दिनों तक चलता है, लेकिन ज्यादातर जगहों में यह त्यौहार सिर्फ एक दिन का होता है।

बिहार में मकर संक्रांति  के दिन ज्यादातर लोग नए अनाज से खिचड़ी बनाते हैं। लोग सुबह-सुबह दही चूड़ा और तिल से बने हुए मिठाइयां जैसे तिलकुट, तिल और गुड़ से बना लड्डू खाते हैं। भारत के कई जगहों खासकर गुजरात में इस दिन पतंग उड़ाने की परंपरा है। महाराष्ट्र में मकर संक्रांति के दिन लोग अलग-अलग रंगों के दानों वाला लड्डू खाते हैं और मेहमानों को भी खिलाते हैं। पंजाब में मकर संक्रांति के दिन लोग नदी में सुबह-सुबह पवित्र स्नान करते हैं। उसके बाद वह सब अपने रिश्तेदारों और दोस्तों के साथ मिलकर भांगड़ा करते हैं। भांगड़ा करने के बाद वह सब स्वादिष्ट पकवान खाते हैं, जिसमें खीर भी होता है। पंजाब में इस त्योहार को लोहड़ी के नाम से भी जाना जाता है। तमिलनाडु में मकर संक्रांति पोंगल के नाम से जाना जाता है और यह चार दिनों का त्योहार होता है। उत्तर प्रदेश में मकर संक्रांति के दिन इलाहाबाद और वाराणसी की पवित्र नदियों में लोग स्नान करते हैं, स्नान करने के बाद लोग मिठाइयां और पकवान साथ में गुड़ भी खाते हैं और पतंग उड़ाते हैं। बंगाल में मकर संक्रांति के दिन पीठा बनाया जाता है जो एक स्वादिष्ट मिठाई की तरह है।

मकर संक्रांति में कई जगह मेले भी लगाए जाते हैं जहां गांव के लोग घूमने जाते हैं।

(word count: 350)

2018 मकर संक्रांति पर निबंध Essay on Makar Sankranti Festival in Hindi

क्या आप मकर संक्रांति के विषय में जानना चाहते हैं?
क्या आप जानते हैं 2018 में मकर संक्रांति कब है?
क्या मकर संक्रांति से जुड़े तथ्यों को आप जानते हैं?
क्या आप जानते हैं मकर संक्रांति क्यों मनाया जाता है?

Featured Fickr Image Source – Rosana Prada

2018 मकर संक्रांति पर निबंध Essay on Makar Sankranti Festival in Hindi

विषय सूचि

पंजाब में माघी, उत्तर प्रदेश में खिचिरी, गुजरात और राजस्थान में उत्तरायण के नाम से मकर संक्रांति त्यौहार बहुत ही धूम-धाम से मनाया जाता है। यह अन्य-अन्य शहरों और रज्यों में अलग-अलग प्रकार से मनाया जाता है।

कहीं असमान पतंगों से घिरा होता है तो कहीं तिल की मिठाइयों से मुहँ मीठा हो जाता है।

तरह-तरह के कई परंपरा और संस्कृतियों के कारण भारत के सभी राज्यों में मकर संक्रांति के उत्सव की एक अलग झलक देखने को मिलती है। साथ ही अलग प्रक्रिया और पौराणिक कथाओं के कारण इस त्यौहार को अलग-अलग क्षेत्र में अलग-अलग प्रकार से मनाया जाता है।

मकर संक्रांति का त्यौहार किसानो का मुख्य त्यौहार होता है। इस त्यौहार में सभी लोग सूर्य भगवान् की पूजा करते हैं।

मकर संक्रांति कब और क्यों मनाया जाता है? When and Why is Makar Sankranti celebrated?

जब सूर्य मकर राशी में प्रवेश करता है तब मकर संक्राति का त्यौहार मनाया जाता है।  इसी लिए सूर्य भगवान् की पूजा की जाती है।

मकर संक्रांति 2018 Makar Sankranti 2018

शनिवार, 14 जनवरी, 2018

यह खेती किसानों द्वारा बहुत ही हर्ष और उल्लास से मनाया जाता है और साथ ही वसंत ऋतू के आगमन की ख़ुशी में भी मनाया जाता है। सभी राज्यों में लोग पतंग उड़ाते हैं ताकि सूर्य देव प्रसन्न हों।

मकर संक्रांति के त्यौहार को लोहड़ी के त्यौहार के एक दिन बाद मनाया जाता है।

मकर संक्रांति की कुछ मुख्य बातें Important things About Makar Sankranti Festival 2017 –

  • यह त्यौहार बहुत ही बड़े पैमाने में भारत के अलग-अलग राज्यों में मनाया जाता है।
  • लोग इस दिन नए कपडे पहनते हैं और मिठाइयाँ भी बंटते हैं।
  • सभी लोग इस दिन पवित्र स्नान करते हैं।
  • जगह-जगह मेला भी लगता है।
  • विश्व प्रसिद्ध कुम्भ का मेला Kumbh mela भी पवित्र स्थानों में लगता है।
  • लोग तिल की मिठाइयाँ बनाते हैं, बंटते हैं और खाते हैं। यह बहुत ही स्वादिष्ट और सेहत के लिए भी अच्छा होता है।

मकर संक्रांति से जुड़े कुछ मुख्य त्योहारों के नाम Name of Some Festivals Associated with Makar Sankranti

  1. पोंगल Pongal
  2. लोहड़ी Lohri
  3. हड्गा Hadaga
  4. उत्तरायण Uttarayan
  5. बिहू Bihu

0 Replies to “Makar Sankranti Festival Essay In Hindi Language”

Lascia un Commento

L'indirizzo email non verrà pubblicato. I campi obbligatori sono contrassegnati *